पति ने बीवी को रांड बनाकर चुदवाया

मंयक

, मेरा नाम मंयक है और meri उम्र 28 year है। हाईट 6 फुट, वजन 60 किलोग्राम। में दिल्ली का रहने वाला हूँ। अब में आपको जो कहानी सुनाने जा रहा हूँ, वो एक सच्ची घटना है। मेरा पहला सेक्स अनुभव 6 year पहले एक कपल के साथ ही हुआ था। में उनके घर में पेइंग गेस्ट था तो तभी से mujhe सिर्फ़ थ्रीसम यानी 2 मर्द 1 औरत में ही मज़ा आता है। में अब तक 4 कपल से मिल चुका हूँ, लेकिन कई दिनों से meri कोई कपल से मुलाकात नहीं हुई थी। fir मैंने इंटरनेट की मदद ली। मैंने कई लोगों को मैल किया और कई साईट पर अपना विज्ञापन दिया तो तब जल्दी ही मेरे पास एक कपल का मैल आया, वो कपल शिमला का था। fir उसने मुझसे मेरा मोबाईल नम्बर माँगा तो तब मैंने उनको मेरा मोबाईल नम्बर दे दिया। fir जल्दी ही उस बंदे का फोन आया, उसका नाम अमित था, उसकी उम्र 32 year थी और उसकी वाईफ की उम्र 30 year थी, उसकी इच्छा थी कि कोई उसकी वाईफ को उसके साथ मिलकर चोदे। वो अपनी वाईफ को भी इस बात के लिए तैयार कर चुका था।

अब अमित और में अक्सर फ़ोन पर बात करने लगे थे, लेकिन वो शिमला में रहते थे और में दिल्ली में रहते थे। fir एक दिन अमित काम से दिल्ली आया तो तब में उससे पहली बार मिला। अमित साथ में अपनी वाईफ माला का फोटो भी लाया था। fir जब मैंने उसका फोटो देखा तो तब में पागल हो गया, वो गजब की खूबसूरत लड़की थी। fir अमित ने बताया कि माला की हाईट 5 फुट 7 इंच है और उसका फिगर साईज 38-28-38 है, वो एकदम गोरी थी, अमित भी काफ़ी स्मार्ट था। fir अमित से मिलने और माला का फोटो देखने के बाद meri उनसे मिलने की उत्सुकता बढ़ गई थी, लेकिन दिक्कत ये थी कि वो शिमला में थे और में दिल्ली में रहता था। में एक बैंक में काम करता हूँ और अब mujhe छुट्टी नहीं मिल रही थी।

fir अमित ने एक दिन meri माला से फोन पर बात करवाई, तो जल्दी ही हम काफ़ी खुल गये थे, कई बार तो हम तीनों फोन पर ही सेक्सी बातें करके ग्रुप सेक्स करने लगे थे। माला की सबसे अच्छी बात ये थी कि वो बहुत ओपन थी, वो खुलकर शब्द यानी choot, लंड और गांड बोलती थी और जब हम दोनों सेक्सी बात करते तो तब अमित उसे स्पीकर फोन पर सुनकर मज़ा लेता था। अब में माला से मिलने के लिए बेकरार हो रहा था। अब अमित और माला भी मुझसे हर हाल में जल्दी से मिलना चाहते थे। fir अमित ने तय किया कि वो माला को लेकर दिल्ली आएगा और fir हम मिलेंगे। अब मैंने उनके लिए दिल्ली में एक शानदार होटल बुक कर दिया था। fir माला और अमित बस से दिल्ली पहुँचे। fir में उन्हें लेने बस स्टैंड पहुँचा।

fir जैसे ही मैंने माला को देखा मेरा तो सिर घूम गया था, वो क्या चीज थी? उसकी आँखें ब्लू कलर की थी, उसके बाल कंधे तक थे और उसका रंग गोरा था, उसके होंठ थोड़े से मोटे थे, जो बहुत सेक्सी लगते है, वो टॉप और जीन्स पहने हुई थी और टॉप डीप नेक था, उसमें से उसके 38 साईज के बूब्स कुछ-कुछ नजर आ रहे थे और जो सबसे शानदार थी वो उसकी निकली हुई गांड। खैर fir में अमित और माला को अपनी कार में लेकर होटल पहुँचा, वो रूम शानदार था, जब शाम के 6 बज रहे थे। fir माला फ्रेश होने के लिए चली गई। अब अमित और mujhe इस मौके की तलाश थी। fir हम दोनों ने प्लानिंग करनी शुरू कर दी। तब अमित ने कहा कि वो चाहता है कि माला को रंडी की तरह हम दोनों चोदें। उसका कहना था कि ज़्यादा दारू पीकर माला रंडी जैसी हो जाती है। अब में भी यही चाहता था। तभी माला बाहर आ गई, उसने टाईट और थोड़ा सा स्कर्ट और टॉप पहन रखा था। उसकी स्कर्ट की साईड में एक बड़ा सा कट था जिससे उसके चिकने पैर दिखाई दे रहे थे।

अमित ने बताया था कि माला और उसका किसी तीसरे के साथ यानी ग्रुप सेक्स का पहला मौका है इसलिए बिना दारु पिए माला के लिए बहुत मुश्किल होगा और यह बात में भी जानता था कि उसे खुलकर चोदने के लिए माला को खूब दारू पिलानी होगी। fir मैंने रूम सर्विस को फोन किया और अपने और अमित के लिए विस्की का ऑर्डर दिया और fir माला से पूछा कि वो क्या पिएगी? तो तब उसने बियर के लिए कहा। तो तब मैंने मज़ाक में कहा कि क्या बच्चो का ड्रिंक पीती हो? असल में में उसे हार्ड ड्रिंक पिलाना चाहता था जिससे उसे अच्छा नशा हो जाए और वो रंडी की तरह बेड पर मज़ा दे। तब माला meri बात सुनकर बोली कि अच्छा वोड्का पी लूंगी। fir बार-बार डिस्टर्ब ना हो इसलिए मैंने दारू की फुल बोतल का आर्डर दिया।

अब दारू आ चुकी थी और अब हम तीनों पीने में जुट गये थे। अब माला और अमित अपने सेक्स के किस्से बता रहे थे और में उन्हें अपने ग्रुप सेक्स के किस्से सुना रहा था। अब हमारे 2-2 पैग हो चुके थे, fir भी सिर्फ़ अभी तक बातें ही रही थी। fir मैंने माला के चिकने पैर पर अपना पैर टच करना चाहा। तो तब भी माला ने कोई जवाब नहीं दिया। तभी माला कुछ लेने के लिए गई। तब अमित बोला कि yearी माला रंडी को अभी तक दारू चढ़ी नहीं है, नहीं तो अभी तक तो yearी कुत्तियाँ नंगी होकर हम दोनों के लंड चूसने लगती। अब अपनी पत्नी के लिए पति के मुँह से ऐसी बातें सुनकर मेरा भी लंड खड़ा हो गया था। fir अमित ने कहा कि माला रंडी को बड़े बड़े पैग बनाकर देते है। अब माला को दो दो लंड से चोदने का हमारा प्लान तैयार था। अब माला वापस आ चुकी थी। fir मैंने और अमित ने उसको बड़े बड़े पैग बनाकर देने शुरू कर दिए। अब 2 पैग के बाद ही माला को दारू चढ़ गई थी। अब अमित माला के पास बैठा था।

fir उसने माला को किस करना शुरू कर दिया और अब उसके हाथ माला के बूब्स को रगड़ रहे थे। अब में पास के सोफे पर बैठा था और fir मैंने भी अपना एक हाथ माला की जाँघ पर रख दिया। तो तब अमित ने अपनी जीभ माला के मुँह में डाल दी। अब माला उसकी जीभ को चूसने लगी थी। fir में नीचे बैठ गया और fir मैंने उसकी स्कर्ट को ऊपर उठा दिया। अब उसकी चिकनी जांघे देखकर मेरा लंड पूरी तरह से खड़ा हो गया था। fir मैंने अपनी जीभ से उसकी जाँघो को चाटना शुरू कर दिया। अब अमित ने उसके टॉप को उतार दिया था और उसके बूब्स पर किस करने लगा था। अब mujhe भी जोश आ गया था और fir मैंने माला की स्कर्ट खींच दी, तो साथ में उसकी पेंटी भी सरक गई थी। अब माला पूरी नंगी थी। अब उसके 38 साईज के बूब्स के साथ अमित लगा पड़ा था। fir माला ने मेरे बाल पकड़कर mujhe भी ऊपर उठा लिया। अब मेरे और अमित के बीच माला बैठी थी। fir मैंने उसके राईट बूब्स पर अपना एक हाथ रख दिया और अब अमित उसके लेफ्ट बूब्स को चूसने लगा था।

अब माला ने मेरा सिर पकड़कर अपने राईट बूब्स पर रख दिया था। अब में उसका इशारा समझ गया था और उसके बूब्स को चाटने लगा था। fir जब वो सिसकारियाँ भरने लगी तो तब मैंने उसका गुलाबी निप्पल अपने मुँह में भर लिया। तब माला बोली कि आह क्या मज़ा आ रहा है? yearो और ज़ोर से चूसो। तो ये सुनकर mujhe और अमित को जोश आ गया और fir हमने और बुरी तरह से उसके मखमली बूब्स को चूसना शुरू कर दिया। अब अमित ने तो उसके बूब्स को काट भी लिया था। तभी वो चिल्लाई हरामजादे खा जाएगा क्या? mujhe दर्द हो रहा है। अब उसके मुँह से गाली सुनकर मैंने भी उसके बूब्स पर अपने दाँत गढ़ा दिए थे। तब वो fir से बोली तू भी yearे हरामी है, मेरा पति तेरे सामने mujhe नंगा कर रहा है तो तू क्या mujhe अपने बाप का माल समझ बैठा है? चाटना है तो meri choot को चाट। तो तब मैंने झट से उसकी choot पर कब्जा कर लिया। दोस्तों ये कहानी आप कामुकता डॉट कॉम पर पड़ रहे है।

अब वो अपनी दोनों टाँगे फैलाकर बैठ गई थी और fir मैंने अपना मुँह उसकी choot पर लगा दिया। अब meri जीभ उसकी choot को कुरेद रही थी। तो तभी माला बोली कि yearे पूरी जीभ अंदर डाल तब मज़ा आएगा। तब मैंने कहा कि बेड पर चलो। अब अमित भी यही चाहता था तो तब माला उठी और लड़खड़ाती हुई बेड पर जाने लगी थी। अब उसकी गांड की थिरकन देखकर में हिल गया था, मैंने पहली बार उसकी नंगी गांड देखी थी, एकदम गोरी और भारी-भारी सी। fir वो बेड पर अपनी दोनों टाँगे फैलाकर लेट गई। तब मैंने पहले उसकी choot को चाटना शुरू किया और fir अपनी जीभ की नोक उसकी choot में डाल दी। अब अमित उसके बूब्स चूसने में लगा था। तब वो अमित से बोली कि देख मादरचोद choot ऐसे चाटी जाती है, कुछ सीख इससे। तब अमित ने mujhe देखा और fir वो भी उसकी choot के करीब आ गया। अब उसकी choot पर मेरा क़ब्ज़ा था, तो तब उसने माला को करवट दिलवा दी और उसकी गांड के छेद पर अपना मुँह लगा दिया।

अब माला पागल हो गई थी और बडबड़ाती जा रही थी। मेरे दोनों छेदो को खूब चाटो, प्लीज इसे थूक से भर दो, meri गांड में सुरसुरी हो रही है। तो तब meri इच्छा हुई कि में उसकी गांड का ओरल कैसे हो रहा है देखूं तो? तो तब मैंने देखा कि अमित ने अपने दोनों हाथों से उसकी गांड को फैला दिया था और उसके गुलाबी छेद में अपनी जीभ की नोक से कुरेद रहा था, उसके बाल पूरी तरह से साफ थे। अब mujhe भी जोश आ गया था और fir में माला की गुदगुदी गांड पर अपने दाँत गढ़ाने लगा। तब वो चिल्लाई हरामजादे क्या कुत्ते की तरह काट रहा है? तो तब अमित बोला कि मादरचोद बहुत बोल रही है, इसके मुँह में अपना लंड दे दे, yearी कुत्तियाँ तभी चुप होगी। तब में उठा और अपना 7 इंच लंबा और 3 इंच मोटे लंड को उसके मुँह में डालने लगा। तब माला मस्त हो गई और ज़ोर-ज़ोर से मेरा लंड चूसने लगी थी। अब अमित उसकी choot चाटने में लग गया था।

fir 5 मिनट के बाद माला अपने मुँह से मेरा लंड निकालकर बोली कि प्लीज mujhe अब मत चाटो, दो- दो लंड में से कोई एक तो meri choot में डालो। fir अमित जैसे ही हटा तो तब वो घोड़ी कि पोजिशन में हो गई। fir मैंने अमित से कहा कि पहले वो चोदे। तो तब अमित बोला कि डियर में इतनी दूर से अपनी बीवी तुमसे चुदवाने के लिए लाया हूँ, में तो इस रंडी को रोज ही चोदता हूँ, आज तुम चोदो, तुम्हारा लंड जाता हुआ देखकर mujhe ज्यादा मज़ा आएगा। अब माला डॉगी स्टाइल में थी। fir में उसके पीछे आया, तो तब अमित ने मेरा लंड पकड़कर उसकी choot पर लगाया, तो एक झटके में ही मेरा लंड अंदर चला गया था। अब माला की पूरी choot मेरे और अमित के थूक से भरी थी और ऊपर से माला का रस भी निकला हुआ था। अब मेरा लंड सटासट अंदर बाहर होने लगा था। fir अमित आगे आया और fir उसने अपना लंड माला के मुँह में डाल दिया। तब मैंने माला के बाल पकड़ लिए और उन्हें अपनी मुट्ठी में भरकर जोर-जोर से धक्के लगाने लगा था।

अब mujhe ऐसा लग रहा था कि जैसे में घुड़सवारी कर रहा हूँ। fir में जैसे ही धक्का लगाता तो तब अमित का पूरा लंड माला के हलक में चला जाता था। अब अमित को कुछ नहीं करना पड़ रहा था। अब मेरे हर धक्के में उसे बहुत मज़ा आ रहा था। तो तभी वो बोला कि डियर और चोद yearी इस रांड को, ज़ोर से धक्के मार, yearी को कुत्तियाँ बनाकर रगड़, में इस yearी को आज पक्की रंडी बनाना चाहता हूँ। अब में लगातार धक्के मार रहा था। fir थोड़ी देर के बाद अमित मुझसे बोला कि डियर तुमने meri बीवी को बहुत चोद लिया, प्लीज अब mujhe इसकी choot में अपना लंड डालने दो। तब mujhe बड़ा अच्छा लगा कि बीवी अमित की है और वो मुझ से इजाजत माँग रहा है और fir में वहाँ से हट गया। fir अमित नीचे लेट गया और माला को अपने ऊपर बैठा लिया। अब माला उसके लंड पर ज़ोर-ज़ोर से उचकने लगी थी। अब अमित भी नीचे से धक्के लगा रहा था। fir में बेड पर खड़ा हुआ और अपने लंड को माला के मुँह में पेलने लगा। तब अमित ने मुझसे पूछा कि डियर मज़ा आ रहा है कि नहीं?

fir मैंने कहा कि मुँह से ज़्यादा choot के छेद में ज्यादा मज़ा आ रहा था। तो तब वो बोला कि कोई बात नहीं, yearी के पास दूसरा छेद भी है। तब उसने उसकी गांड को अपने दोनों हाथों से फैलाकर कहा कि इस छेद में मैंने भी कभी अपना लंड नहीं डाला है, आज तू अपना लंड इसकी गांड में डाल दे, yearी को जब रंडी ही बनाना है तो पूरी तरह से बनाते है। अब माला डर गई थी और fir वो बोली कि प्लीज meri गांड मत मारना, mujhe बहुत दर्द होगा, में रातभर तुम जैसे कहोगे चुदवाऊंगी, लेकिन meri गांड मत मारो। अब में तो उसकी गांड देखकर पहले ही पागल हो चुका था और अब अपने आपको रोकना मुश्किल था। तब मैंने उससे कहा कि अगर दर्द होगा तो में अपना लंड हटा लूँगा। fir मैंने उसको समझाया, तो तब वो मान गई और बोली कि बस एक पैग वोड्का और दे दो, नशे में दर्द कम होगा, लेकिन fir भी तुम धीरे-धीरे meri गांड में अपना लंड डालना। तब मैंने उसे एक पैग बनाकर दिया। अब वो अमित के लंड पर बैठी बैठी झट से दारू का गिलास एक बार में खाली कर गई थी।

अब जब माला दारू पी रही थी, तो तब मैंने पास से क्रीम उठाकर ढेर सारी अपने लंड पर लगा ली थी। तब अमित माला की गांड को fir से फैलाकर बोला कि ऐसा भड़वा पति कहीं नहीं मिलेगा, जो अपनी वाईफ की choot के साथ गांड भी किसी और से मरवा रहा है, डाल yearी की गांड में। fir मैंने अपना लंड माला की गांड के छेद पर लगाया और साथ ही वहाँ पर थूक भी दिया। fir पहले ही झटके में मेरा सूपाड़ा अंदर चला गया। तब माला बोली कि प्लीज रुक जाओं बहुत दर्द हो रहा है। तब में रुक गया, लेकिन अमित को तो दारू चढ़ चुकी थी। अब उसे कुछ समझ नहीं आ रहा था। अब वो तो बस अपनी बीवी की गांड मरवाना चाहता था। fir उसने नीचे से ज़ोर से झटका दिया, तो तब मेरा आधा लंड माला की गांड में घुस गया।

fir माला दर्द से चिल्लाने लगी, प्लीज mujhe छोड़ दो, में मर जाउंगी। तब मैंने उससे कहा कि चिन्ता मत करो, में अपना लंड और नहीं डालूँगा, बस तुम मेरा साथ दो, वैसे भी में और ज़्यादा उसकी गांड में अपना लंड नहीं डाल सकता था, क्योंकि उसकी choot में पहले से ही लंड था, जिससे उसकी गांड का छेद भी टाईट हो गया था। अब में धक्के लगा रहा था और नीचे से अमित उसकी choot को पेल रहा था। अब हम दोनों के धक्के एक साथ पड़ने लगे थे। अब माला मस्त हुई जा रही थी। अब उसकी choot में पूरा लंड था तो गांड में आधा लंड था। तभी वो ज़ोर से बोली कि अमित आई लव यू, यू आर द बेस्ट हसबैंड इन दिस वर्ड, ओह, आह, उ गिव मी, आ क्या लंड ढूँढा है मेरे लिए? आज तुमने एक साथ दो लंड लेने की meri तमन्ना पूरी कर दी और ज़ोर से चोदो, meri choot और गांड दोनों छेदों को फाड़ दो। fir 10 मिनट तक में और अमित माला को रगड़ते रहे।

 

अब माला थक चुकी थी और fir वो बोली कि प्लीज अब mujhe और मत चोदो, meri choot और गांड छिल गई है, में थक गई हूँ, अब mujhe बहुत दर्द हो रहा है, मेरे मुँह में दे दो में चूस-चूसकर तुम दोनों का रस निकाल दूँगी और कहोंगे तो स्पर्म भी पी लूँगी बस मेरे दोनों छेदों में से अपना लंड निकाल लो। तब अमित बोला कि भाई यह रंडी तो थक गई, तू क्या बोलता है? जैसा तू कहेगा वही होगा, यह रंडी है और तू इसका कस्टमर। तो तब मैंने कहा कि इसके मुँह में देते है और fir हम दोनों ने अपना-अपना लंड बाहर निकाल लिया। अब माला नीचे बैठ गई थी। अब वो बारी-बारी से हम दोनों के लंड चूसने लगी थी। अब जब वो अमित का लंड चूसती, तो तब मेरे लंड को अपने एक हाथ से पकड़कर हिलाती। fir जल्द ही मेरा लंड उसके मुँह में झड़ गया और fir मैंने अपना पूरा स्पर्म उसके मुँह में ही डाल दिया। अब वो रंडी की तरह उसको पी भी गई थी। अब मेरा लंड अभी तक उसके मुँह में ही था की अमित ने उसके चेहरे पर अपने लंड से पिचकारी छोड़ दी। fir उसके बाद हम बाथ लेने चले गये। fir हम तीनों ने एक साथ डिनर लिया और 2 बार fir से चुदाई का खेल खेला। fir माला ने नंगी होकर डांस भी दिखाया और खूब choot और गांड मरवाई। fir सुबह वो दोनों शिमला के लिए वापस निकल गये। अब लगभग हर 2 महीने में हम मिलते है और सेक्स का मजा करते है ।।

धन्यवाद